निवेश की मूल बातें क्या हैं: beginners के लिए

Spread the love

 निवेश की मूल बातें क्या हैं: beginners के लिए
परिचय:

वित्तीय क्षेत्र में प्रवेश करना रोमांचक और मुश्किल हो सकता है। किसी भी निवेश पोर्टफोलियो के मूल में कई अलग-अलग वित्तीय साधन होते हैं, प्रत्येक की अपनी अलग-अलग विशेषताएं और रिटर्न देने की क्षमता होती है। हम इस ब्लॉग पोस्ट में स्टॉक, बॉन्ड और अन्य वित्तीय साधनों के बारे में जानकारी देंगे, जिससे आप शेयर बाजार के बदलते परिदृश्य में सही निर्णय ले सकेंगे।
स्टॉक को समझना:

स्टॉक क्या हैं?

शेयर, इक्विटी या स्टॉक, किसी कंपनी में स्वामित्व का प्रतिनिधित्व करते हैं। जब आप स्टॉक खरीदते हैं, तो आप एक शेयरधारक बन जाते हैं, जिससे आप कंपनी के लाभ का एक हिस्सा मिलता है और शेयरधारक बैठकों में मतदान करने का अधिकार मिलता है।

जोखिम और इनाम:

स्टॉक को अन्य निवेशों की तुलना में अधिक जोखिम भरा माना जाता है, लेकिन उच्च रिटर्न की भी संभावना है। शेयर की कीमतों में उतार-चढ़ाव बाजार की स्थिति, कंपनी का प्रदर्शन और आर्थिक परिस्थितियों पर निर्भर करता है।

लाभांश और पूंजीगत लाभ:

कंपनी स्टॉक लाभांश देती है, जो शेयरधारकों को मिलने वाले मुनाफे का एक हिस्सा है। निवेशक स्टॉक को खरीद मूल्य से अधिक कीमत पर बेचकर पूंजीगत लाभ प्राप्त कर सकते हैं।

बांड को समझना:

बांड क्या हैं?

बांड पूंजी के लिए सरकारों, नगर पालिकाओं और निगमों द्वारा दी गई ऋण प्रतिभूतियां हैं। जब आप कोई बांड खरीदते हैं, तो आप जारीकर्ता को पैसा उधार देते हैं और परिपक्वता पर मूल राशि की वापसी के बदले में ब्याज भुगतान कर ते हैं।

स्थिरता और आय:

बांड अक्सर स्टॉक की तुलना में कम जोखिम भरा माना जाता है क्योंकि वे ब्याज भुगतान के माध्यम से एक निश्चित आय धारा प्रदान करते हैं। वे स्थिर होते हैं और एक विविध पोर्टफोलियो में शेयरों की अस्थिरता को संतुलित करते हैं।

ब्याज दरें और बांड मूल्य:

ब्याज दरों और बांड की कीमतों में विपरीत संबंध होता है। बांड की कीमतें गिरती हैं जब ब्याज दरें बढ़ती हैं, और इसके विपरीत। बांड निवेशकों को इस गतिशीलता का पता लगाना महत्वपूर्ण है।

अन्य वित्तीय साधनों की खोज:

म्यूचुअल फंड्स:

म्यूचुअल फंड स्टॉक, बॉन्ड और अन्य प्रतिभूतियों में निवेश करने के लिए कई निवेशकों से धन जुटाते हैं। वे विविधीकरण और पेशेवर प्रबंधन की पेशकश करते हैं।

एक्सचेंज-ट्रेडेड फंड (ईटीएफ):

ईटीएफ स्टॉक एक्सचेंजों पर व्यापार करते हैं और विभिन्न बाजार सूचकांकों को देखते हैं, जैसा कि म्यूचुअल फंड करते हैं। वे व्यक्तिगत स्टॉक की तरह कारोबार करते हैं और विविधीकरण प्रदान करते हैं।

विकल्प और वायदा: (Options and Futures)

स्टॉक जैसी अंतर्निहित संपत्ति से मूल्य प्राप्त करने वाले विकल्प और वायदा डेरिवेटिव हैं। इन्हें अक्सर हेजिंग, सट्टेबाजी या पैसा बनाने के लिए प्रयोग किया जाता है।

रियल एस्टेट निवेश ट्रस्ट (आरईआईटी):

आरईआईटी निवेशकों को रियल एस्टेट संपत्तियों में निवेश करने की अनुमति देता है जो आय उत्पन्न करती हैं। वे रियल एस्टेट बाजारों तक पहुंचने का एक तरीका प्रदान करते हैं, भौतिक संपत्तियों पर सीधे स्वामित्व के बिना।

निष्कर्ष:

वित्तीय साधनों के विभिन्न परिदृश्य को समझने के लिए स्टॉक, बॉन्ड और अन्य निवेश साधनों की गहरी समझ होनी चाहिए। आप प्रत्येक परिसंपत्ति वर्ग के मूलभूत अवधारणाओं और जोखिमों को समझकर अपने वित्तीय लक्ष्यों के अनुरूप रणनीतिक निवेश निर्णय लेने के लिए खुद को सशक्त बनाते हैं। विकास, आय या संतुलित दृष्टिकोण की तलाश में हों, एक अच्छी तरह से सूचित निवेशक वित्तीय बाजारों की जटिलताओं से निपटने के लिए बेहतर स्थिति में है।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

Disclaimer
Buying or selling financial instruments carries a significant degree of risk, and stockmarketup.in. makes no recommendations regarding this matter. Our readers and customers are free to choose to work with a registered investment advisor or to make their own trading and investment decisions, even though we provide instructional information on how to use our advanced stockmarketup.in trading tools. This article only represents the author’s opinions; stockmarketup.in or any of its affiliates do not endorse any viewpoints expressed here.I am not a SEBI-registered advisor or a financial adviser.
learn price action and technical knowledge courses

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

1 Comment.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *